Friday, August 24, 2012

फिलहाल में दिल्ली मे हूँ अपना इलाज करवाने आई हूँ .बिहार के छोटे शहरों भागलपुर ,दरभंगा पूर्णिया मुजफ्फरपुर वग़ैरा मे इलाज करवाना अभी भी ख़तरे से खाली नही है .जहाँ सरकारी सेवा बद से बदतर है ,प्राइवेट डाक्टर आपको लूटने मे लगे रहते हैं आमिर ख़ान जैसे लोग लाख सर पटक लें लेकिन यहाँ के डाक्टरों का दिल नही पसीजता .महँगी दवाइयाँ ,अनाप सनाप टेस्ट ,इलाज को लंबा खीचना और सबसे बड़ी बात अपनी अनुभव हीनता की बात को छुपाना ,चाहे मरीज की जान पर बन आए .ये डाक्टर सही इलाज का भरोसा दिला कर ,बीमारी को सुधारने की बजाय और बिगाड़देते हैं और फिर ये जाचवाले भी विश्वशनीय नही होते हैं अयोग्य लॅबटेक्निसियन रख कर मरीजों को ग़लत रिपोर्ट देते हैं जिससे डाक्टर भी भामित हो जाते हैं जब में एम्स मे गई तो ये देख कर कोई हैरानी नही हुई की वहाँ अधिकतर मरीज बिहार के ही थे डाक्टरों द्वारा बिगाड़े गये केस .हालाँकि बिहार के मुख्य मंत्री अपने स्तर पर भरपूर कोशिश कर रहे हैं लेकिन जब तक वहाँ के डाक्टरों की आत्मा नही जागेगी तब तक कुछ नही होने वाला है 

2 comments:

  1. प्रणाम आंटी, आप मेरे ब्लॉग पर आयीं, इसके लिए शुक्रिया.आभार. इन दिनों आप दिल्ली में कहाँ हैं, कहाँ इलाज करा रही हैं. मेरा मोबाइल नंबर है 9911364316

    ReplyDelete
  2. utpal ji ,khush rahiye .
    mai abhi apni betiyon ke pas hun jo kalkaji me rahti hain .mujhe thairoid ki samasya ho gayi thi.'inmas hospital'me dikhlaya hai jo isi ke liye jana jata hai .ilaj abhi jari hai .mai fon karungi.

    ReplyDelete